जापानी लोग 100 साल तक जिंदा कैसे रहते हैं? How Japanese Lives For Long Time

दोस्तों यह बात तो आप सभी भी मानते ही होंगे कि अच्छा भोजन और रहन-सहन इस बात में बहुत बड़ी भूमिका निभाता है कि आप कितना अच्छा लाइफस्टाइल कितने लंबे समय तक इंजॉय कर पाते हैं। और इस चीज में जापान ने काफी हद तक सफलता भी पाई है।
 

दुनिया भर में अपनी हाईटेक टेक्नोलॉजी और तरक्की के लिए तो जापान मशहूर है ही साथ ही में यह चीज भी लोगों को अचंभे में डाल देती है कि जैपनीज लोग और दूसरे लोगों के मुकाबले में इतना लंबा जीवन कैसे जीते हैं?

दोस्तों यदि रिपोर्ट्स की माने तो जापान कि लोगों की एवरेज उम्र 80 से 84 साल तक होती है लेकिन अपने भारत में यह केवल 68 से 70 साल तक है और दूसरे देशों में यह आंकड़ा और भी घट रहा है।

 

और दोस्तों कमाल की बात यह है कि दुनिया में सबसे ज्यादा बुजुर्ग इंसान जापान में ही हैं दुनिया में सबसे ज्यादा लंबी आयु तक जीने वाले इंसान Chiyo Miyako (च्यो मयाको) भी जापान के ही थे । जिनका हाल ही में 117 साल की आयु में देहांत हो गया ।

इन सभी चीजों को देखकर दुनिया के लगभग सभी देश इस बात की हैरत में थे। कि जापानीज ऐसा क्या कर रहे हैं कि वह इतने लंबे समय तक जिंदगी जी पा रहे हैं । और मैं उम्मीद करता हूं कि आप भी यह जानना चाहते हैं ।

दोस्तों मेलबर्न कि यूनिवर्सिटी ने कुछ सालों पहले एक सर्वे किया यह जानने के लिए की जैपनीज इतने लंबी जिंदगी कैसे जी पाते हैं और सर्वे में काफी सारी चीजें निकल कर आई।

जो आपको ब्लॉग पोस्ट से जानने को मिलेंगी ।

जापानी लोगो केे 100 साल तक जिंदा रहने का राज।

01. साफ सफाई

जापान के लोग साफ-सफाई को लेकर काफी ज्यादा aggressive हैं जैपनीज इस बात का काफी ज्यादा ख्याल रखते हैं कि उनके चारों तरफ किसी प्रकार की गंदगी ना फैले और ना केवल वह अपने देश में बल्कि जब वह किसी और देश में जाते हैं तो वहां भी वह साफ सफाई का पूरा ख्याल रखते हैं।

उनका मानना है कि साफ-सफाई काफी सारी खतरनाक बीमारियों से बचने में मदद करता है वहां पर बचपन से ही स्कूलों में साफ-सफाई को लेकर काफी सारी चीजें बच्चों को सिखाई जाती हैं ।

जापानीज लोग अलग-अलग प्रकार के Rules and Regulations को फॉलो करते हैं जिससे कि वह अपने आसपास साफ-सफाई को Maintain रख सकें।

02. Government Guidelines For Healthy Life

दोस्तों जापान की सरकार के द्वारा दी गई गाइडलाइंस वहां के लोग  काफी अच्छे तरीके से फॉलो करते है वहां की सरकार ने हेल्दी फूड को लेकर अलग प्रकार की गाइडलाइंस को बनाया हुआ है सरकार लोगों को ज्यादा से ज्यादा घर पर बना हुआ खाना खाने के लिए प्रोत्साहित करती है।

वहां पर बचपन से ही बच्चों को हेल्थी फूड के बारे में बताया जाता है और ज्यादा से ज्यादा फास्ट-फूड जैसी चीजों को खाने के लिए रोका जाता है जिस वजह से वहां के लोग घर पर बना ताजा भोजन खाना पसंद करते हैं।

दोस्तों जैपनीज लोग जितना ज्यादा हेल्दी फूड को खाने पर ध्यान देते हैं। वह उतना ही ज्यादा कोशिश करते हैं कि खाना वेस्ट ना करें।

जिस वजह से यदि आप उनके खाना खाने के बर्तनों को देखेंगे तो आपको पता चलेगा कि वह काफी छोटे बर्तनों में खाना खाते हैं।

इसके अलावा जैपनीज लोग बहुत कम से ही डेरी वाले प्रोडक्ट्स का यूज़ अपने खाने के लिए करते हैं क्योंकि डेरी प्रोडक्ट में काफी ज्यादा है Fat होता है और वहां की सरकार का यह भी कानून है कि लोगों का पेट नहीं निकलना चाहिए चाहे वह स्त्री हो या पुरुष ।

लेकिन जैपनीज Sea Food को खाना काफी ज्यादा पसंद करते हैं और वह दुनिया भर के 10% sea food को अकेले ही Consume करते हैं।

दोस्तों Sea Food वह फूड होते हैं जो समुद्र में पाए जाते हैं जैपनीज लोग समुद्र में पाए जाने वाले लगभग हर जीव को खाना काफी ज्यादा पसंद करते हैं क्योंकि समुंद्री सब्जियां जमीन पर उगने वाली सब्जियों के मुकाबले 10 गुना ज्यादा बेहतर होते हैं।

इसके अलावा सीफूड में काफी ज्यादा आयरन और पोटेशियम की मात्रा भी भरपूर होती हैं।

लेकिन जैपनीज काफी ज्यादा Red Meat को Avoid करते हैं क्योंकि उसमें भी काफी ज्यादा फैट होता हैं।

03. चाय पीने का चलन

वैसे तो ऐसा माना जाता है कि चाय केवल भारत में ही मशहूर है लेकिन जैपनीज भी इस चीज में कोई कम नहीं हैं। वहां पर अलग-अलग Occasions पर लोग अलग-अलग प्रकार की चाय पीना पसंद करते हैं ।

यहां तक कि वहां पर लोग दिन में तीन से चार बार अलग-अलग प्रकार की चाय पीना पसंद करते ।

जापान में ज्यादातर लोग ग्रीन टी को पीना पसंद करते हैं यहां पर 100 से भी ज्यादा प्रकार की चाय की पैदावार होती है।

हर चाय को बनाने को पीने और बनाने का तरीका अलग अलग है और जापान की चाय भारत की चाय के मुकाबले में ज्यादा healthy और बेहतर होती हैं क्योंकि चीनी और दूध जैसी चीजों का इस्तेमाल यह लोग अपनी चाय में नहीं करते हैं यहां तक कि काफी सारी बीमारियों में भी जैपनीज लोग चाय को पीते हैं।

जापान में लोग 28 से भी ज्यादा अलग-अलग प्रकार की ग्रीन-टी को पीना पसंद करते हैं संचा, गयोकोरा, माचा होजीचाह सबसे मशहूर चाय है।

यह चाय जापानीज लोगों की दिनचर्या को और भी ज्यादा एक्टिव और बेहतर बनाने में उनकी मदद करती है।

05. पैदल चलना

जहां जापान टेक्नोलॉजी और तरक्की के मामले में दुनिया भर में सबसे बड़ी कंट्रीज में से एक है वहां के लोग बड़ी-बड़ी गाड़ियों  में चलने की बजाएं पैदल चलना ज्यादा पसंद करते हैं।

वहां के लोगों का मानना है कि पैदल चलना काफी ज्यादा जरूरी है क्योंकि यह उनको कोलेस्ट्रॉल और हृदय रोग जैसी बीमारियों से बचाने में उनकी मदद करता है और भोजन पचाने में भी काफी ज्यादा उनकी हेल्प करता है।

जैपनीज लोग अपना ज्यादातर काम या तो पैदल या फिर साइकिल या फिर पब्लिक ट्रांसपोर्ट के द्वारा करते हैं क्योंकि इन सभी कामों में उनके उनका शरीर काफी अच्छे तरीके से Involve रहता है।

06. Oil Consumption

जहां भारत देश में ज्यादातर लोग जितना ज्यादा तेल और तली हुई चीजों को खाना पसंद करते हैं जापान में बिल्कुल इसका उल्टा है वहां पर लोग ज्यादातर पानी से बने हुए भोजन को खाना पसंद करते हैं ।

जैपनीज लोग अपने भोजन को Steam यानी भाप के द्वारा पकाते हैं जिस वजह से उसके अंदर के सारे पोषक तत्व भी उस भोजन के अंदर ही रह जाते हैं जो खाने में स्वादिष्ट और पोस्टिक होता है।

जहां अपने भारत देश में लोग खाना खाने के बाद मीठा खाना पसंद करते हैं वहां जैपनीज लोग खाना खाने के बाद ताजे फलों को खाना ज्यादा पसंद करते हैं। और हर भोजन में वह सूप को लेना काफी ज्यादा पसंद करते हैं।

दोस्तों जैपनीज लोग रोटी या ब्रेड की बजाएं चावल को खाना ज्यादा पसंद करते हैं क्योंकि वहां के चावल अपने भारत के चावलों के मुकाबले में ज्यादा बेहतर और पौष्टिक होते हैं। जापान में लोग व्हाइट राइस, ब्राउन राइस और ग्रीन राइस को भी खाना काफी ज्यादा पसंद करते हैं

07. Regular Checkup

जैपनीज लोगों को अपने शरीर के रेगुलर चेकअप को लेकर काफी ज्यादा फास्ट है जहां अपने भारत में लोग जब तक बिल्कुल बुरी तरीके से बीमार नहीं हो जाते हैं वह डॉक्टर के पास जाना भी मुनासिब नहीं समझते हैं लेकिन जापान में लोग साल में कम से कम 12 बार अपने शरीर का चेकअप करवाते हैं।

जैपनीज इस बात का पूरा ख्याल रखने हैं कि कोई छोटी बीमारी उनके शरीर में बड़ा रूप ना ले सके।

जैसे ही वह थोड़े से भी बीमार होते हैं वह डॉक्टर के पास चेकअप के लिए चले जाते हैं। और इस चीज में दोस्तों जापान की सरकार को भी इसका काफी ज्यादा योगदान रहता है।

क्योंकि वहां की सरकार इन चीजों के लिए लोगों को काफी ज्यादा प्रोत्साहित भी करती हैं और साथ में ही काफी सारी सरकारी Schemes को भी लोगों के सामने रखती है जिससे कि लोग अपना चेकअप कराने में ना हिचके।

यह सारी चीजें जापान के लोगों की आदतें बन चुकी हैं जो उन्हें इतना लंबा जीवन जीने में मदद करती हैं और दोस्तों अच्छी बात यह है कि इनमें से कुछ चीजों को हम अपने जीवन में अपना सकते हैं और अपने जीवन को और ज्यादा बेहतर और लंबा भी बना सकते हैं।

हम उम्मीद करते हैं कि आपको इस ब्लॉग पोस्ट, “जापानी लोगों के लंबे समय तक जीवन कैसे जी आते हैं।” (How Japanese Lives For Long Time) से काफी सारी नहीं चीजें जानने को मिली होगी ।

यह भी पढ़ें:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *